शोध और सूचना सेवा

 

       शोध और सूचना सेवा निम्नलिखित स्वतः पूर्ण विशिष्ट कृत्यात्मक स्कंधों या अनुभागों में विभाजित है जो उनके द्वारा किए गए कार्यों से जाने जाते हैं-

 

         आर्थिक और वित्तीय कार्य स्कंध

         शैक्षणिक और वैज्ञानिक कार्य स्कंध

         विधिक और संवैधानिक कार्य स्कंध

         संसदीय कार्य स्कंध

         राजनीतक कार्य स्कंध

         सामाजिक कार्य स्कंध

         जे.पी.आई. अनुभाग

         प्रक्रिया एवं पद्धति एकक

         सदस्य परिचय प्रकोष्ठ

 

कृत्य

       शोध प्रभाग का मुख्य कार्य अद्यतन संसदीय रुचि के विषयों का जिसमें ऐसे विधायी उपाय भी सम्मिलित हैं जिन पर संसद द्वारा चर्चा किए जाने और इस बारे में सदस्यों द्वारा विस्तृत सूचना और आंकड़ों की मांग किए जाने की संभावना होती है, का पूर्वानुमान करने और उन्हें चिह्नित करते हुए सदस्यों की सूचना संबंधी आवश्यकताओं का आकलन करना है।

 

       संसद सदस्यों को अद्यतन राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न क्षेत्रों की घटनाओं की सूचना देने का पूरा-पूरा प्रयास पुस्तिकाओं, सूचना पत्रकों, पृष्ठाधार टिप्पणों, विवरणिकाओं इत्यादि के जिनमें तथ्यपरक जानकारी होती है, के प्रकाशन के द्वारा किया जाता है।  लघु-सूचना पत्रिकाएं इत्यादि भी तैयार की जाती हैं तथा सदस्यों के उपयोग के लिए वितरित की जाती है।  ये सभी प्रकाशन पूर्व प्रकाशित प्रामाणिक स्रोतों पर आधारित होते हैं और इन्हें अद्यतन रखने का सतत प्रयास किया जाता है।

 

प्रकाशन

 

       शोध प्रभाग समय-समय पर संसदीय कार्यों के विभिन्न पहलुओं और संसदीय प्रक्रिया एवं पद्धति से संबंधित अनेक महत्वपूर्ण प्रकाशन, मोनोग्राफ, पत्रिकाएं, पुस्तिकाएं आदि निकालता है।  शोध सेवा कौल और शकधर की प्रसिद्ध पुस्तक संसदीय प्रक्रिया एवं पद्धति में समय-समय पर संशोधन करने और उसे अद्यतन करने का कार्य भी करती है।  देश के स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले और हमारी संसदीय प्रणाली के विकास में महान योगदान करने वाले सुविख्यात सांसदों की स्मृति को ताजा करने की दृष्टि से सुविख्यात सांसद मोनोग्राफ सीरीज/स्मारिका श्रृंखला के अंतर्गत अनेक मोनोग्राफ जारी किए जा चुके हैं।

 

       इस प्रभाग द्वारा लोक सभा के दिवंगत अध्यक्षों तथा अन्य नेताओं के संक्षिप्त जीवन वृत्त भी प्रकाशित किए जाते हैं जो संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में उन्हें पुष्पांजलि अर्पित करते समय गण्यमान्य व्यक्तियों में वितरित किए जाते हैं।

 

       जब कभी माननीय अध्यक्ष एवं संसदीय प्रतिनिधि मंडल के सदस्य राष्ट्रमंडल संसदीय संघ अथवा अंतर्संसदीय संघ द्वारा आयोजित सम्मेलनों/सेमीनारों अथवा अन्य अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में भाग लेते हैं तो शोध प्रभाग उनके प्रयोग के लिए विभिन्न मुद्दों पर भाषण, संक्षिप्त विवरण और संकल्प भी तैयार करता है।  परम्परा के अनुसार इन भाषणों/संक्षिप्त विवरणों/संकल्पों की विदेश मंत्रालय अथवा अन्य संबंधित मंत्रालय/विभाग द्वारा पुनरीक्षा की जाती है।

 

       यह सेवा सद्भावना यात्रा पर विदेश जाने वाले अथवा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संसदीय सम्मेलनों/गोष्ठियों/कार्यशालाओं में भाग लेने भारतीय संसदीय प्रतिनिधिमंडल के लिए संक्षिप्त विवरण, संबंधित देश संबंधी टिप्पण, सूचना पत्रक और पृष्ठाधार टिप्पण भी तैयार करता है।

      

       शोध प्रभाग सामान्य निर्वाचन के पश्चात् नई लोक सभा गठित होने पर  "सदस्य परिचय" भी प्रकाशित करता है।

 

       शोध और सूचना प्रभाग सदस्यों के प्रयोग के लिए निम्नलिखित पत्र-पत्रिकाओं को भी प्रकाशित करता है

      

       जनरल ऑफ पार्लियामेंटरी इन्फारमेशन (त्रैमासिक): इस पत्रिका में संसदीय और संविधान संबंधी विषयों पर संसद सदस्यों और इस क्षेत्र में अन्य प्रख्यात व्यक्तियों के संसदीय प्रक्रिया और समस्या संबंधी लेख होते हैं।  इसमें संसदीय घटनाओं और प्रक्रिया एवं पद्धति संबंधी घटनाओं तथा भारतीय और विदेशी विधानमंडलों के कार्यकलापों का प्रामाणिक रिकार्ड भी होता है।

 

 

       आई.पी.जी. न्यूजलैटर (त्रैमासिक) : इस समाचार-पत्र द्वारा भारतीय संसदीय समूह के सदस्यों को विभिन्न संसदीय घटनाओं तथा भारतीय संसदीय समूह के कार्यकलापों जैसे संसदीय शिष्टमंडलों का आदान-प्रदा , आई.पी.यू., राष्ट्रमंडल संसदीय संघ और सार्क के संसदीय सम्मेलनों, बैठकों, गोष्ठियों तथा परिचर्चाओं आदि के बारे में जानकारी दी जाती है।