प्रलेखन सेवा

 

संसदीय ग्रंथालय की प्रलेखन सेवा की स्थापना 1975 में हुई थी। यह सेवा मुख्य रूप से संसद ग्रंथालय में प्राप्तदैनिक/आवधिक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित ऐसे लेखों, जो संसद सदस्यों के लिए उपयोगीहों, की अनुक्रमणिका तैयार करना है। चयनित लेखों की अनुक्रमणिका प्रविष्टियों में विशेष रूप सेतैयार की गई वर्गीकरण योजना के अनुरूप लेखक का नाम,शीर्षक, प्रकाशन का नाम और तिथि या वर्ष, उपयुक्त व्याख्या एवं विषय शीर्षक जैसे ग्रंथपरक ब्यौरेहोते हैं। पन्द्रह दिन केलेखों की अनुक्रमणिका प्रविष्टियों को क्रमबद्ध करकेएलआईबीएसवाईएस सॉफ्टवेयरमें डाला जाता है तथा प्रकाशन के रूप में प्रकाशित किया जाता है। चयनित लेखों केग्रंथपरक ब्यौरोंको पहले (जनवरी 1975 से दिसंबर 1988 तक) डॉक्यूमेंटेशन फोर्टनाईटली शीर्षक से प्रकाशित किया जाता था। तथापि, जनवरी 1989 के उपरांत से, इसे "पार्लियामेंट्री डॉक्यूमेंटेशन" शीर्षक से प्रकाशित किया जा रहा है।
       
अगस्त 2008 से, यह सेवा संसद ग्रंथालय में प्राप्त हिन्दी दैनिक/आवधिक पत्रों-पत्रिकाओं में प्रकाशित लेखों का ग्रंथपरक ब्यौरा प्राप्त करने के इच्छुक सभी प्रयोक्ताओंकी जानकारी से जुड़ी आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु हिन्दी में "संसदीय प्रलेखन" नामक प्रकाशन भी प्रकाशित करती है।

प्रलेखन सेवा को और बेहतर बनाने के दृष्टिगत, फरवरी 2016 में एलआईबीएसवाईएस 7 सॉफ़्टवेयर का एक अद्यतन वर्ज़न (संस्करण)इंस्टाल किया गया, जिसके अंतर्गत शीर्षक लिंक के माध्यम से प्रत्येक लेख के पाठ को उनके ग्रंथपरक ब्यौरों से जोड़ने की सुविधा उपलब्ध है। इस प्रक्रिया में, प्रत्येक लेख के पाठ को स्कैन किया जा रहा है, उसी लेख की पीडीएफ फाइल को तैयार कर उसे अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में ग्रंथपरक ब्यौरे के साथ जोड़ दिया जाता है। जनवरी 2017 के उपरांत से, संसद भवन परिसर की परिधि के भीतर संसद ग्रंथालय मुख्यपृष्ठ (होमपेज) के अंतर्गत मात्र शीर्षक पर क्लिक करने के माध्यम से ही लेखों के पाठ का अवलोकन किया जा सकता है और उन्हें पुनः प्राप्त किया जा सकता है।

"पार्लियामेंट्री डॉक्यूमेंटेशन" और "संसदीय प्रलेखन" के इलेक्ट्रानिक संस्करण संसद सदस्यों, लोक सभा और राज्य सभा सचिवालयों के अधिकारियों को उनके ई-मेल पते पर भेजे जा रहे हैं।ये प्रकाशन"पार्लियामेंट्री डॉक्यूमेंटेशन"(अंग्रेजी में) के लिए http://parliamentlibraryindia.nic.in/Issue.aspxतथा'संसदीय प्रलेखन'(हिंदी में) के लिए http://164.100.47.194/loksabhahindi/Library/Issue.aspx वेब पते पर भी उपलब्ध हैं। अनुक्रमित लेखों को विभिन्न मानदंडों, जैसे लेखक का नाम, लेख का शीर्षक, प्रकाशन का नाम तथा वर्ष, लेखों के विषय, आदि के आधार पर संसद ग्रंथालय के मुख्यपृष्ठ (होमपेज) के अंतर्गत "कैटलॉग खोज" शीर्षक के माध्यम से ऑनलाइन खोजा जा सकता है। संदर्भ के उद्देश्य से सामयिक विषयों से संबंधित महत्वपूर्ण लेख भी इसी वेबसाइट पर अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में साप्ताहिक रूप से अपलोड किए जा रहे हैं ।

यद्यपि "पार्लियामेंट्री डॉक्यूमेंटेशन" और "संसदीय प्रलेखन"संसद ग्रंथालय मुख्य पृष्ठ पर उपलब्ध हैं, तथापि संसद सदस्यों तथा दोनों सचिवालयों के अधिकारियों के संदर्भ उपयोगार्थ तथा परामर्श हेतु प्रकाशन की कम्प्यूटर से तैयार कुछ प्रतियांसंसद ग्रंथालय में रखी जाती है।"डॉक्यूमेंटेशन फोर्टनाइटली" (1975-88), "पार्लियामेंट्री डॉक्यूमेंटेशन" (1989 से) और "संसदीय प्रलेखन" (अगस्त, 2008 से) के सजिल्द अंक भी संदर्भ हेतु संसद ग्रंथालय में उपलब्ध हैं।