Sixteenth Lok Sabha
सदस्‍य जीवन-वृत्त


चन्‍देल,कुँवर पुष्‍पेन्‍द्र सिंह
निर्वाचन क्षेत्र   : हमीरपुर (उत्तर प्रदेश)
दल का नाम     : भारतीय जनता पार्टी ( भा.ज.पा.)
ईमेल : kunwarps[DOT]chandel[AT]sansad[DOT]nic[DOT]in
pushpendra[DOT]chandelmahoba[AT]gmail[DOT]com
 
पिता का नाम कुँवर हरपाल सिंह चन्‍देल
माता का नाम श्रीमती शील सिंह चन्‍देल
जन्म तिथि 08/10/1973
जन्म स्थान महोबा (उत्‍तर प्रदेश)
वैवाहिक स्थिति विवाहित
विवाह की तिथि 18/02/1999
पति/पत्नी का नाम श्रीमती दीपाली सिंह
पुत्रों की संख्या 2
शैक्षिक
योग्यता
एम.ए. (राजनीति शास्‍त्र) एलएल.बी. बुंदेलखंड विश्‍वविद्यालय से शिक्षा ग्रहण की
व्यवसाय सामाजिक कार्यकर्ता
कृषक,लेखक,व्‍यापारी
स्थायी पता
आशीर्वाद पैलेस, महोबा
जिला महोबा, उत्‍तर प्रदेश-210427, उत्तर प्रदेश
दूरभाष : (05281) 255635, 09415145100 (मो.)
वर्तमान पता
25, नार्थ एवेन्‍यू ,
नई दिल्‍ली-110001
09415145100, 09839810000 (मो.)
जिन पदों पर कार्य किया
मई, 2014 सोलहवीं लोक सभा के लिए निर्वाचित
1 सितम्‍बर 2014 - 31 अगस्त 2017 सदस्‍य, रेल संबंधी स्‍थायी समिति
सदस्‍य, परामर्शदात्री समिति, कृषि मंत्रालय
2 अगस्त 2016 - 25 मई 2019 सदस्य, लाभ के पदों संबंधी संयुक्त समिति
1 सितम्बर 2018 - 25 मई 2019 सदस्य, वित्त संबंधी स्थायी संबंधी समिति
मई, 2019 सत्रहवीं लोक सभा के लिए पुन:निर्वाचित (दूसरा कार्यकाल)
13 सितंबर 2019 से सदस्य, विदेशी मामलों संबंधी स्थायी समिति
09 अक्तूबर 2019 से सदस्य, नियम समिति
सदस्य, परामर्शदात्री समिति, रक्षा मंत्रालय


 
 
सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यकलाप
अन्‍य संस्‍थाओं के साथ-साथ, कुष्‍ट रोग से पीडित लोगों और परिवारों की बेहतरी और सशक्तीकरण की दिशा में कार्यरत एक सुप्रसिद्ध न्‍यास तथा अनाथ बच्‍चों और बुन्‍देलखंड क्षेत्र की सांस्‍कृतिक धरोहर एवं लोक कलाओं के संरक्षण और पुन: स्‍थापन हेतु कार्यरत संगठनों से जुडे हुए हैं।
 
विशेष अभिरुचि
सामाजिक कार्य, शिक्षा, कृषि के क्षेत्र में नवीनता लाना, सुगंधित एवं औषधीय पौधों का संरक्षण, पशु-पालन, वन्‍य जीव परिरक्षण, जल संसाधन प्रबंधन ऐतिहासिक एवं सास्‍कृतिक विरासत का संरक्षण, विलुप्त हो रही प्रजातियों की सुरक्षा एवं पर्यावरण संबंधी मामले।
 
आमोद-प्रमोद और मनोरंजन
यात्रा करना, शतरंज एवं बैडमिंटन खेलना, घुडसवारी, मछली पकड़ना और आध्‍यात्‍मिक एवं प्रेरक साहित्‍य पढ़ना, सृजनात्‍मक गद्य और कवितांए लिखना, सामाजिक कार्यकर्ताओं और आध्‍यात्‍मिक व्‍यक्‍त्‍ाियों एवं परिवार के साथ बेहतर समय गुजारना।
 
खेलकूद और क्लब
निशानेबाजी और बैडमिंटन; महोबा जिला में विभिन्‍न शूटिंग प्रतियोगिताओं के विजेता (पिस्‍टल, राइफल, पिजन क्‍ले); संयोजक भाजपा (उत्‍तर प्रदेश) का खेलकूद प्रकोष्‍ठ
 
विदेश यात्रा
अनेक देशों की यात्रा की।
 
अन्य जानकारी
बाल स्वयंसेवक के रूप में आर.आर.एस. से जुडे रहे और उसके बाद से संघ के कार्यकलापों में एक सच्‍चे सेवक के रूप से भाग लेते रहे हैं। विद्यार्थी परिषद के सदस्‍य के रुप मे संगठन की बेहतरी के लिए विभिन्‍न दायित्‍वों का निर्वहन किया। जनता में जल संसाधन को बचाने एवंं उसके संरक्षण और विकास के विषय में जागरुकता फैलाने के कार्यक्रमों से जुडे़ रहे; सामूहिक विवाह कराने वाले संगठन से जुड़े रहे ताकि लोगों को समाज की एक कुप्रथा, दहेज प्रथा के प्रति हतोत्‍साहित किया जा सके; वर्तमान में फ्रैंड्स ऑफ बीजेपी के संयोजक तथा राज्य कार्यकारिणी समिति (उत्तर प्रदेश) के सदस्‍य है; माननीय श्री राजनाथ सिंह (उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्‍यमंत्री) के कार्यकाल में उन के निवास पर पहली बार (भाजपा खेल-कूद प्रकोष्‍ठ के संयोजक के रुप में) खिलाड़ियों की एक राज्‍य स्‍तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया। खिलाड़ियों के लिए ऐसी प्रतियोगिता का पहली बार आयोजित किया गया ताकि उनके समक्ष आ रही समस्‍याओं को सुना जा सके और उन पर विचार किया जा सके। स्‍थानीय शिल्‍पकारों और लोक कलाओं जैसे दिवारी नृत्‍य (डंडो के साथ की जाने वाली मार्शल आर्ट) को मंच प्रदान करने और मान्‍यता देने के लिए प्रतिवर्ष सांस्‍कृतिक समारोह आयोजित करते हैं; ग्रामीण जनता में स्‍थानीय खेलों को प्रोत्‍साहित करने और जागरुकता उत्‍पन्‍न करने हेतु क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में प्रतिवर्ष दंगल और अन्‍य खेलकूद प्रतियोगिताएं (कबड्डी, क्रिकेट ओर हाकी मैच) आयोजित करते हैं। पर्यावरण एवं ग्‍लोबल वार्मिंग के प्रति जनता, विशेष तौर से बच्‍चों में जागरुकता पैदा करने के लिए समारोह आयोजित करते हैं। भाजपा खेलकूद प्रकोष्‍ठ के संयोजक के रुप में राज्‍य में खेलकूद को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों के स्तर तथा उनकी सामाजिक आर्थिक स्‍थिति में सुधार लाने के लिए उत्‍साहपूर्वक कार्य किया; स्‍वामी विवेकानन्‍द की शिक्षाओं में अटूट विश्‍वास रखते हुए, स्‍कूल एवं कालेज के छात्राें को प्रात्‍साहित करने और उन्‍हें सकारात्‍मक निदेश देने के लिए युवा समारोह और बैठकें आयोजित कीं। कला और साहित्‍य के पारखी होने के नाते, विभिन्‍न सांस्‍कृतिक एवं साहित्‍यिक संगठनों से जुडे रहे हैं और विभिन्‍न स्‍थानीय कवियों और कलाकारों को समर्थन एंव परामर्श दिया; गायन की एक विश्‍व प्रसिद्ध विधा का आयोजन करके बहादुरी और युद्ध नायकों की वीरता के गीतों को बढ़ावा देते रहे हैं। ग्रामीण जनता में शिक्षा और पर्यावरण के प्रति जागरुकता उत्पन्न करने के लिए विभिन्‍न कार्यक्रम शुरु किए है; जल प्रबंधन, जो क्षेत्र का एक ज्‍वलंत मुददा है, चन्‍देल वंश के चन्‍देल शासकों द्वारा प्रदत्‍त क्षेत्र के जल संसाधनों की पुनजीवित कने के लिए अत्‍यधिक प्रयास किए है जिनमें कीरत सागर, बीजा सागर, कल्‍याण सागर और बुन्‍देखण्‍ड क्षेत्र में अनेक अन्‍य एतिहासिक महत्‍व के संसाधन स्थानीय मूवी थिएटरों में शामिल है अश्‍लील फिल्‍में दिखाने के विरुद्ध कई आन्‍दोलनों में सक्रीय भागीदारी निभाई एवं प्रयास किए। महोबा जिला बनाओ आंदोलन में सक्रीय रुप से भागीदारी की और अन्‍य प्रयास किए, जिसके परिणामस्वरूप महोबा जिले का सृजन संभव हो पाया। खेती में विभिन्‍न तकनीकें अपनाकर, ड्रिप सिंचाई एवं क्राॅप आर्गेनिक रोटेशन फार्मिंग द्वारा बेहतर उपज प्राप्‍त करने के लिए कृषि का विकास करना किसानों को आये के वैकल्‍पिक साधन प्रदान करने के लिए डेयरी एवं पोल्‍ट्री फार्म विकसित करना। स्‍थानीय राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की सहायता से किसानों एवं उनके पशुओं को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना; साहिवाल, गिर और थारपरकर जैसी गायों की लुप्‍त प्राय: प्रजाति को बढ़ाने के लिए परियोजनाएं शुरु थी सुयोग्‍य कृषि वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की सहायता से किसानों को बागवानी की नवीनतम प्राद्योगिकी सुलभ कराना। ये लोग फलों के बाग और नर्सरी की स्थापना संबंधी लागत में किसानों की और व्‍यक्‍तिगत रुप से ध्‍यान देते हैं ताकि किसानों को वित्तीय लाभ मिल सकें। किसानों को ऋण एवं बीमा सम्‍बन्‍धी सरकारी नितियों से परिचित कराना ताकि उनमें वित्‍तीय सुरक्षा की भावना पैदा की जा सके; औषधीय एवं सुगन्धित पादपों जैसे स्टेविया, लेमन ग्रास एवं जासमीन के लिए नर्सरी तैयार करना ताकि सी.आई.एम.ए.पी. (सैंट्रल इंस्टीट्यूट फॉर मेडिसिनल एवं एरोमेटिक प्लांट्स) के वैज्ञानिकों की सहायत से (सुगंधशालाएं) स्थापित की जा सकें; ग्रामीण विकास; पर्यावरण संबंधी मुद्दे; क्षेत्र की खानों और स्टोन क्रशिंग उद्योगों में कार्यरत श्रमिक वर्ग की जीवनशैली



राष्‍ट्रीय सूचना विज्ञान केन्‍द्र द्वारा इस साइट को तैयार और प्रस्‍तुत किया गया है।
इस वेबसाइट पर सामग्री का प्रकाशन, प्रबंधन और अनुरक्षण सॉफ्टवेयर एकक, कंप्‍यूटर (हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर) प्रबंधन शाखा, लोक सभा सचिवालय द्वारा किया जाता है।